Sikkim Bhulekh : Search Lands Records, Land Registration, Plot Details Online 2024

भूमि रिकॉर्ड एक महत्वपूर्ण दस्तावेज़ प्रमाण के रूप में काम करता है। इसके अलावा, यह सरकार के लिए कुल राजस्व का अनुमान लगाने में भी मदद करता है क्योंकि भूमि राजस्व के प्रमुख स्रोतों में से एक है।

जब आप किसी संपत्ति की तलाश करते हैं, तो आप सोचते होंगे कि आप संपत्ति से संबंधित पूरी जानकारी कहां से प्राप्त कर सकते हैं। यह विशेष रूप से तब महत्वपूर्ण हो जाता है जब आप ग्रामीण क्षेत्रों में भूमि या कृषि भूमि खरीदना चाहते हैं। यहां सिक्किम भूमि रिकॉर्ड की भूमिका आती है। आइए सिक्किम भूमि रिकॉर्ड से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी पर चर्चा करें।

Sikkim Bhulekh Portal

Sikkim Bhulekh Portal

सिक्किम के राजस्व विभाग द्वारा ऑनलाइन सिक्किम भूमि रिकॉर्ड के लिए वेबसाइट का प्रबंधन किया जाता है।

सिक्किम भूमि रिकॉर्ड चार भागों से मिलकर बनी है: रजिस्ट्रेशन अधिनियम की धारा 21A के तहत अचल संपत्ति के हस्तांतरण के लिए एनओसी जारी करने के लिए एक ऑनलाइन प्रणाली, सिक्किम भूमि रिकॉर्ड के रखरखाव के लिए ‘धरित्री’ नामक एक ऑनलाइन प्रणाली, संपत्ति पंजीकरण के लिए ‘e-Panjiyan’ नामक एक ऑनलाइन प्रणाली, और भूमि राजस्व संग्रहण के लिए एक ऑनलाइन प्रणाली। ये चारों विधियां राजस्व प्रशासन को सबसे कुशल, पारदर्शी और जवाबदेह बनाने को सुनिश्चित करती हैं।

  • सिक्किम भूमि रिकॉर्ड वेबसाइट का उद्देश्य किसी भी राज्य के निवासी को बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के भूमि संबंधी आंकड़े प्राप्त करने की अनुमति देना है।
  • कोई भी व्यक्ति सिक्किम भूमि रिकॉर्ड पोर्टल पर अपनी पसंद के अनुसार भूलेख, खाता खतौनी, जमाबंदी और भूमि मानचित्र जैसी भूमि आंकड़े की जानकारी प्राप्त कर सकता है। सिक्किम भूमि रिकॉर्ड में आपको भूमि स्वामित्व, भूमि के प्रकार और कई अन्य चीजों से संबंधित जानकारी मिलेगी।
  • सिक्किम भूमि रिकॉर्ड पोर्टल सभी लोगो का डाटा सुरक्षित रहे इसके लिए फिंगरप्रिंट स्कैनर का उपयोग करता है। आवेदन प्राप्ति, सुधार, नोटिस जारी करना, उत्तराधिकार संसाधन, रिपोर्ट, क्वेरी, उपयोगकर्ता प्रशासन और सहायता कुछ उपलब्ध मॉड्यूल हैं। यह पूरी भूमि लेनदेन प्रक्रिया को स्वचालित कर देता है। पढ़ें: सिक्किम पंजीकरण और स्टांप शुल्क प्रभार

STQC ने प्रोग्राम को आईएसओ प्रमाणन दिया है। सरकार को नागरिकों से भूमि संबंधित सेवाएं प्राप्त करने के लिए इधर-उधर भटकने की आवश्यकता नहीं है।

सिक्किम भूमि रिकॉर्ड प्रबंधन के उद्देश्य

आज सिक्किम गवर्नमेंट के सामने सबसे बड़ी चुनौतियों में से एक सिक्किम भूमि रिकॉर्ड को संरक्षित करना और आसानी से उपलब्ध संपत्ति जानकारी है।

प्रभावी भूमि प्रबंधन के लिए सटीक ऑनलाइन सिक्किम भूमि रिकॉर्ड बनाए रखना आवश्यक है। मैन्युअल रिकॉर्ड रखरखाव प्रणाली अप्रभावी साबित हुई है, जिसमें अपारदर्शिता, देरी से या गैर-अपडेट, भ्रष्टाचार और जनता का उत्पीड़न शामिल है। ऑनलाइन सिक्किम भूमि रिकॉर्ड प्रबंधन के निम्नलिखित उद्देश्य हैं:

  • भूमि डेटाबेस रखरखाव और अपडेट को आसान बनाना।
  • एक कृषि जनगणना डेटाबेस बनाना।
  • भूमि स्वामित्व वितरण से संबंधित आंकड़े की आवश्यकता वाले विकास कार्यक्रमों को लागू करने के लिए आवश्यक सहायता प्रदान करना।
  • सिक्किम भूमि रिकॉर्ड को गैरकानूनी हेरफेर से बचाना, व्यापक जांच की अनुमति देकर (भूमि मुद्दों से जुड़े मुकदमेबाजी और सामाजिक संघर्षों को कम करने के प्रयास में)।
  • भूमि राजस्व संग्रह, फसल पैटर्न आदि जैसे आंकड़े दर्ज करने के लिए सटीक दस्तावेजों के साथ वार्षिक ऑनलाइन सिक्किम भूमि रिकॉर्ड सेट का स्वचालन करना।
  • बुनियादी ढांचा और पर्यावरण विकास के लिए विस्तृत योजना बनाना आसान बनाना।
  • विभिन्न मानक और विशेष भूमि आंकड़े क्वेरी की अनुमति देना

Sikkim Land Records ऑनलाइन के लाभ

सिक्किम के ऑनलाइन भूमि रिकॉर्ड के लाभ इस प्रकार हैं:

  • संपत्ति उत्तराधिकार सहित सभी भूमि रिकॉर्ड को कंप्यूटरीकृत करना
  • भूमि रिकॉर्ड रखरखाव में पारदर्शिता बढ़ाना
  • भूमि विवादों के दायरे को कम करना
  • संपत्ति स्वामित्व अधिकारों को पारदर्शिता से प्रदर्शित करना
  • सरकारी अधिकारियों के लिए ट्रैकिंग में आसानी
  • लेनदेन की गति बढ़ाना
  • कम असहमतियों से निपटना आसान होना
  • डेवलपर के निर्माण कार्यक्रम और कुल लागत को कम करना
  • आवासीय मूल्य निर्धारण को और अधिक आकर्षक बनाना
  • घर खरीदारों को संपत्ति के मालिक के बारे में सटीक जानकारी प्रदान करना
  • यह देखने में सक्षम होना कि क्या संपत्ति विवाद में है
  • डेवलपरों द्वारा निर्माण की आवश्यकताओं का पालन करना सुनिश्चित करना
  • भूखंड की खरीद के समय बाजार-आधारित मूल्य निर्धारण की जांच करना

सिक्किम भूमि अभिलेख के लिए आवश्यक दस्तावेज़

सिक्किम भूमि रिकॉर्ड वे भूमि दस्तावेज हैं जो न केवल आपको विभिन्न योजनाओं से लाभ प्राप्त करने और यह पुष्टि करने में मदद करते हैं कि आप किसी संपत्ति के मालिक हैं, बल्कि इससे अन्यथा उत्पन्न होने वाले किसी भी निपटान मुद्दे से भी छुटकारा मिलता है।

इसके अलावा, भूमि विभाजन या आपकी भूमि से संबंधित किसी भी कार्रवाई के दौरान आय प्रमाणपत्र या जाति प्रमाणपत्र बनाया जाना चाहिए।

इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि आपकी भूमि की सभी जानकारियां सिक्किम भूमि रिकॉर्ड में सही ढंग से अपडेट और दर्ज की जाएं ताकि भविष्य में किसी भी तरह के विवाद से बचा जा सके।

सिक्किम भूमि रिकॉर्ड ऑनलाइन प्राप्त करने की प्रक्रिया

सिक्किम से ऑनलाइन भूमि रिकॉर्ड प्राप्त करने की प्रक्रिया इस प्रकार है:

  • Sikkim LRDM वेबसाइट नागरिकों को आवश्यक जन सूचना प्रदान करती है। इसके अलावा, यह जानकारी आपकी भाषा में भी उपलब्ध है।
  • उस district या subdivision का चयन करें जहां संपत्ति स्थित है।
  • फिर तहसील या गांव के लिए खाता प्रकार का चयन करें। भूमिदार उन भूस्वामियों को कहा जाता है जिनके पास अपनी भूमि पर स्थायी, विरासत और हस्तांतरणीय अधिकार हैं। उनके अधिकार विरासत में मिलते हैं, लेकिन वे न तो स्थायी हैं और न ही हस्तांतरणीय।
  • आप मालिक का नाम देकर जानकारी खोज सकते हैं।
  • प्रासंगिक जानकारी प्राप्त करने के लिए ‘खाता विवरण देखें’ पर क्लिक करें, जिसमें प्रत्येक मालिक द्वारा धारित भूमि का हिस्सा, खसरा नंबर और भूमि का क्षेत्रफल शामिल है।
  • कैपचा भरें और हरे बटन पर क्लिक करें।
  • भूमि रिकॉर्ड विस्तार से प्रदर्शित किए जाएंगे।
  • आप घर बैठे इस साइट पर सिक्किम भूमि रिकॉर्ड देख सकते हैं।

इस तरह आप सिक्किम की ऑनलाइन भूमि रिकॉर्ड प्रणाली से आसानी से अपनी भूमि की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

सिक्किम भूमि रिकॉर्ड में भूमि पार्सल खोज कैसे करें

ऑनलाइन सिक्किम भूमि रिकॉर्ड में भूमि खंड की खोज करने की प्रक्रिया इस प्रकार है:

  • शुरुआत करने के लिए, सिक्किम भूमि रिकॉर्ड के आधिकारिक पोर्टल पर जाएं।
  • होम पेज आपके सामने प्रदर्शित होगा।
  • अब आपको भूमि रिकॉर्ड खोज विकल्प चुनना होगा।
  • भूमि खंडों की खोज करें।
  • एक नया पेज आपके सामने खुलेगा।
  • आपको इस पेज पर भूमि खंड खोज पर क्लिक करना होगा।
  • फिर आपको अपना जिला, तहसील, गांव, जमाबंदी वर्ष आदि चुनना होगा।
  • अब आपको खोज पर क्लििक करना होगा।
  • आवश्यक जानकारी आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर प्रदर्शित हो जाएगी।

इस प्रकार आप सिक्किम के ऑनलाइन भूमि रिकॉर्ड पोर्टल पर भूमि खंड की खोज आसानी से कर सकते हैं।

View Details of Disputed Cases on Sikkim Bhulekh Portal 

सिक्किम भूमि रिकॉर्ड के ऑनलाइन पोर्टल पर विवादित मामलों का विवरण देखने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

चरण 1: सिक्किम भूमि रिकॉर्ड के आधिकारिक पोर्टल पर जाएं।

चरण 2: ‘सेवाएं’ मेन्यू के अंतर्गत ‘विवाद मामला’ विकल्प का चयन करें।

चरण 3: भूमि विवाद मामले की रिपोर्ट एक्सेस करने के लिए, जिला और तालुका चुनें और ‘रिपोर्ट लें’ बटन पर क्लिक करें।

चरण 4: पूरे तालुका के लिए विवादित मामलों की रिपोर्ट की एक सूची प्रदर्शित होगी, जिसमें जिला, तालुका, गांव का नाम, होबली, एमआर नंबर, दस्तावेज नंबर, आपत्तिकर्ता का नाम, आपत्ति की तारीख, आपत्ति का विवरण, लेनदेन वर्ष और सर्वे नंबर जैसी विस्तृत जानकारी शामिल होगी।

इस प्रकार आप सिक्किम भूमि रिकॉर्ड पोर्टल से किसी भी विवादित मामले की जानकारी आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।

Sikkim Land Records: Contact Information

सिक्किम भूमि रिकॉर्ड से संबंधित किसी भी प्रश्न के लिए निम्नलिखित नंबर और पते पर संपर्क करें:

  • फोन नंबर: 03592-202664, फैक्स नंबर: 201075/202932
  • ईमेल: skmlrdm@gmail.com, ssdma.lrd@sikkim.gov.in
  • वेबसाइट: http://www.sikkimlrdm.gov.in
  • पता: लैंड रेवेन्यू एंड डिजास्टर मैनेजमेंट विभाग, ताशिलिंग सचिवालय, गंगटोक, सिक्किम 737101

Bhulekh (Land Records): State Wise

Uttarpradesh (उत्तरप्रदेश)Madhyapradesh (मध्यप्रदेश)
Odisha (ओडिशा)Bihar (बिहार)
Uttarakhand (उत्तराखंड)Maharashtra (महाराष्ट्र)
Rajasthan (राजस्थान)Jharkhand (झारखण्ड)
Haryana (हरियाणा)Punjab (पंजाब)
Andhrapradesh (आंध्रप्रदेश)Gujarat (गुजरात)
Karnataka (कर्णाटक)Telangana (तेलंगना)
Chhattisgarh (छत्तीसगढ़)Assam (आसाम)
West Bengal (वेस्ट बंगाल)Goa (गोवा)
Himachal Pradesh (हिमाचल प्रदेश)Kerala (केरला)
Tamilnadu (तमिलनाडु)Tripura (त्रिपुरा)
Sikkim (सिक्किम)Manipur (मणिपुर)
Meghalaya (मेघालय)Mizoram (मिजोराम)
Nagaland (नागालैंड)

2 thoughts on “Sikkim Bhulekh : Search Lands Records, Land Registration, Plot Details Online 2024”

Leave a Comment